सर्दी के लक्षण, कारण, उपचार, चिकित्सा और उपचार

सर्दी के लक्षण, कारण, उपचार, चिकित्सा और उपचार

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपको सर्दी से रिलेटेड चीजों के बारे में बताएंगे।  आजकल ठंड के मौसम में सर्दी सभी को हो रही है,जुकाम हो रही है तो इन सभी चीजों से कैसे बचना है और इन सभी चीजों के होने के रीजन क्या है और कारण उपचार सभी चीजों के बारे में एक-एक करके बात करेंगे। आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ लीजिए आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी। आप सर्दी में जुकाम खांसी और अन्य बीमारियों से बचे रहेंगे।


जुखाम होने के कारण दोनों Both due to cold

जुकाम का रोग ज्यादातर गलत तरीके से भोजन करने से होता है। 
पेट में कब्ज बनने की वजह से भी जुकाम हो जाता है। 
ज्यादा दिमागी काम करने की वजह से भी जुकाम हो जाता है। 
जरूरत से अधिक खाना खाने के कारण भी जुखाम हो रहा है। 
ज्यादातर घी, तेल, चीनी वाले पदार्थ और तली हुई, भुनी हुई चीजें खाने की वजह से जुकाम हो जाता है। 
धुआं तथा धूल भरे वातावरण में रहने के कारण जुकाम हो जाता है। 
रात को ज्यादा देर तक जागते रहने, ठंड लगने तथा व्यायाम के अभाव के कारण भी जुकाम हो जाता है। 

जुकाम का प्राकृतिक चिकित्सा से उपचार Natural cure for colds

1 - जुकाम होने पर रोगी को सप्ताह में 1 दिन व्रत रखना चाहिए और व्रत के दौरान केवल गर्म पानी पीना चाहिए। 
2 - इस रोग से पीड़ित रोगी को एक गिलास गुनगुने पानी में एक नींबू निचोड़ कर और उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर पीना चाहिए इसके फलस्वरूप जुकाम कुछ ही समय में सही हो जाता है। 
3 - पानी में नींबू का रस तुलसी का रस, तथा शहद मिलाकर 2 से 3 दिन तक लगातार पीने से रोगी का जुकाम जल्दी सही हो जाता है।
4 - पानी में नींबू का रस मिलाकर पीने के बाद 10 से 15 भीगे हुए मुनक्के तथा दो से तीन भीगे हुई अंजीर खाने से जुकाम सही हो जाता है। 
5 - इस रोग से पीड़ित रोगी को विटामिन सी चीजों का अधिक सेवन करना चाहिए।    
6 - जुकाम को ठीक करने के लिए रोगी को अपने पेट पर गीली मिट्टी का लेप करना चाहिए, तथा इसके बाद पेट 
को साफ करना चाहिए। इसके बाद रोगी व्यक्ति को  जलनेति तक कुंजल क्रिया करनी चाहिए, और फिर अपने पैरों को गर्म पानी से  धोना चाहिए, और कुछ देर तक धूप से अपने शरीर की सिकाई करना चाहिए और फिर जुकाम जल्द ही सही हो जाता है। 
 7 -इस रोग से पीड़ित रोगी को नमक के पानी से गरारे करने चाहिए तथा इसके बाद सूर्य तप्त हरी बोतल का पानी पीना चाहिए। जिसके फलस्वरूप यह रोग कुछ ही दिनों में सही हो जाता है। जुकाम बहुत अधिक पुराना हो गया हो तो सूर्य तप्त द्वारा तैयार किया गया पीली बोतल का जल दिन में तीन से चार बार पीने से लाभ होता है जुखाम रोग को ठीक करने के लिए कई प्रकार के आसन जिसको करने से जुखाम सही हो जाता है यह  आसन  8-इस  प्रकार है - गोमुखासन, सर्वांगासन, सूर्य भेदन   तथा आदि। 

Post a Comment

1 Comments

  1. https://www.mevitech.in/2019/12/paisa-kamane-wali-app-jo-de-rhi-hai.html

    ReplyDelete